Wednesday, May 29, 2024
ADVTspot_imgspot_imgspot_imgspot_img
HomeUncategorizedBihar: बिहार को इथेनॉल हब बनाने की तैयारी, 3000 करोड़ के निवेश...

Bihar: बिहार को इथेनॉल हब बनाने की तैयारी, 3000 करोड़ के निवेश से खुली ये राह

बिहार सरकार ने निवेशकों के जरिए राज्य में इथेनॉल उत्पादन में 3000 करोड़ का निवेश किया है। इससे बिहार के इथेनॉल उत्पादन में अग्रणी राज्य के रूप में उभरने की संभावना है। साथ ही इससे राज्य के किसानों को बड़ा लाभ पहुंचने की उम्मीद है| कच्चे तेल की महंगी कीमतों ने देश की आर्थिक स्थिति पर बड़ा बोझ डाला है। इस बोझ को कम करने के लिए केंद्र-राज्य सरकारें लगातार इथेनॉल उत्पादन को बढ़ावा दे रही हैं। बिहार सरकार ने निवेशकों के जरिए राज्य में इथेनॉल उत्पादन में 3000 करोड़ का निवेश किया है। इससे बिहार के इथेनॉल उत्पादन में अग्रणी राज्य के रूप में उभरने की संभावना है। साथ ही इससे राज्य के किसानों को बड़ा लाभ पहुंचने की उम्मीद है। राज्य सरकार ने दावा किया है कि आने वाले समय में इथेनॉल उत्पादन में बिहार को देश के अग्रणी राज्यों के रूप में विकसित किया जाएगा।

बिहार के उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ ने कहा कि अब तक 28 विभिन्न कंपनियों ने राज्य में इथेनॉल उत्पादन में रूचि दिखाई है। इन सबने औसतन 200 करोड़ रुपये के प्रोजेक्ट को अंतिम मंजूरी दे दी है। वेदांता 50 मेगावाट का सौर ऊर्जा संयंत्र स्थापित करने की योजना बना रही है, और निकट भविष्य में दो और सौर ऊर्जा संयंत्रों की योजना है। इथेनॉल और सौर ऊर्जा पर यह दोहरा फोकस बिहार की सतत विकास और नवीकरणीय ऊर्जा के प्रति प्रतिबद्धता को रेखांकित करता है। इससे राज्य में बेहतर निवेश को भी बढ़ावा मिलेगा।

बिहार इन्वेस्टर समिट को संबोधित करते हुए मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार इथेनॉल सहित विभिन्न क्षेत्रों के उद्यमियों को सकारात्मक माहौल देकर निवेश के लिए अनुकूल माहौल बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि बेहतर निवेश के माध्यम से सरकार ज्यादा से ज्यादा युवा आबादी को रोजगार उपलब्ध कराने के लक्ष्य को हासिल करने की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रही है। इसका असर जल्द दिखाई पड़ेगा। इस सम्मेलन में 150 से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया।

दरअसल, राज्य सरकार अपने मूल उद्योगों को बढ़ावा देने की नीति अपना रही है। इसमें कपड़ा, चमड़ा और खाद्य प्रसंस्करण शामिल है। इसके अलावा नए समय की आवश्यकता और बिहार के युवाओं की दक्षता को देखते हुए सरकार आईटी/आईटीईएस और ईएसडीएम और सामान्य विनिर्माण में भी विशेष ध्यान देने की योजना बना रही है। ये क्षेत्र राज्य के औद्योगिक विकास के दृष्टिकोण के अनुरूप निवेश और विकास के पर्याप्त अवसर प्रस्तुत करते हैं।

समीर कुमार महासेठ ने कहा कि बिहार का उद्योग विभाग राज्य में एक संपन्न औद्योगिक परिदृश्य बनाने के लिए समर्पित है। उन्होंने कहा कि सरकार व्यापार वृद्धि के लिए अनुकूल माहौल प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है और विश्वास है कि शिखर सम्मेलन से कई लाभकारी साझेदारियां सामने आएंगी। उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ ने 13-14 दिसंबर 2023 को पटना में आयोजित होने वाले आगामी बिजनेस कनेक्ट समिट 2023 में शामिल होने के लिए उद्यमियों को निमंत्रण भी दिया।

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_img

Most Popular

WP2Social Auto Publish Powered By : XYZScripts.com