News

 अगस्त तक किसानों को हो सौ फीसदी गन्ना मूल्य भुगतान : योगी

विगत दो वर्षों में 68,828 करोड़ रुपए का भुगतान

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि गन्ना किसानों का बकाया भुगतान मामले में देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिया है कि अगस्त तक शत-प्रतिशत गन्ना मूल्य का बकाया भुगतान चीनी मिल मालिक कर दें। इसे लेकर चीनी मिल मालिकों को तत्काल निर्देश जारी किया जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि हमें एक ऐसी निधि बनानी चाहिए, जिससे प्रति कुंतल गन्ना पर सेस लगा सकें। इसमें सरकार भी सहयोग करेगी। सेस से मिलने वाला धन हम गन्ना किसानों के कल्याण और सुविधाओं में खर्च करेंगे। इसी पैसे से गन्ना किसानों के लिए चीनी मिलों के बाहर विश्रामालय, शौचालय, पेयजल समेत अन्य सुविधाएं दे सकेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि गन्ना मूल्य का भुगतान विगत दो वर्षों से अच्छा हुआ है। विगत दो वर्षों में 68,828 करोड़ रुपए का भुगतान हुआ है। इसमें और बेहतर करने की जरुरत है। मुख्यमंत्री ने सख्त निर्देश दिया कि गन्ना किसानों का अभी जो बकाया है उसे अलग-अलग किस्तों में अगस्त तक सारा भुगतान हो जाना चाहिए। जिससे किसानों को कोई परेशानी न हो।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि स्थानीय नौजवानों को गन्ने के जूस के कारोबार से जोड़ना चाहिए। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए ऋण मुहैया करवा कर नौजवानों को रोजगार के साधन देने का काम भी किया जा सकता है।  ‘चीनी मिलों को शुरू करने के लिए नए टेंडर लगाए गए हैं’  मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बंद पड़ी चीनी मिल मझोला और रसड़ा सहकारी चीनी मिल को जल्द शुरू किया जाए। विभागीय अधिकारियों ने बताया है कि इन दोनों चीनी मिलों को प्रारंभ करने के लिए टेंडर लगाए गए हैं। उन्होंने कहा है कि गन्ना विकास सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बजाए सड़कों को नए सिरे से बनाए। जिससे कई साल तक सड़क न टूटे। बनाने वाले से कम से कम पांच साल की गारंटी लें।

Show More

Related Articles

Close